News

दक्षिण अफ्रीका की धरती पर पहली टेस्ट सीरीज़ जीतने पर होगी भारत की नज़र

कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते प्रकोप को ध्यान में रखते हुए टेस्ट सीरीज़ में हुई देरी के बाद भारत आखिरकार दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर जाएगा। तीन मैचों की पहली सीरीज़ अब 26 दिसंबर, 2021 को सुपरस्पोर्ट पार्क, सेंचुरियन में शुरू होने वाली है।

इंग्लैंड में इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई सीरीज़ के बाद से यह भारत का सफेद जर्सी में पहला विदेशी दौरा होगा। वहीं, दक्षिण अफ्रीका के लिए पिछले छह महीने में यह उनका पहला टेस्ट होगा। बॉक्सिंग डे 2021 को निश्चित रूप से एक दिलचस्प टेस्ट मैच होगा। यहां हम इस बड़े मुकाबले से पहले कुछ अहम पहलुओं पर बात कर रहे हैं।

दक्षिण अफ्रीका में दोनों टीमों के बीच पिछले मुकाबले

विराट कोहली के नेतृत्व में 2017-18 में भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे में, भारत ने तीन में से केवल एक टेस्ट जीता। इस बार दक्षिण अफ्रीका में एक कप्तान के रूप में उनकी यह दूसरी टेस्ट सीरीज होगी। ऐसे में कोहली अपने उस रिकॉर्ड को सुधारने के लिए उत्सुक होंगे।

अगर टीम इस सीरीज को जीतने में कामयाब हो जाती है, तो यह इतिहास के पन्नों में एक नया अध्याय जोड़ेगी। दरअसल यह दक्षिण अफ्रीका में भारत की पहली सीरीज जीत होगी।

बल्लेबाजी क्रम में बड़े बदलाव की उम्मीद

अनुभवी और सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के चोटों के कारण बाहर होने की वजह से मयंक अग्रवाल को स्टैंड-इन उप कप्तान के साथ केएल राहुल को सलामी बल्लेबाजी की जिम्मेदारी संभालने के लिए कहा गया है।

सीनियर खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे के पास भी काफी अनुभव है, लेकिन उनकी खराब फॉर्म चिंता का विषय रही है। हालांकि, एक महीने से भी कम समय पहले कानपुर में शानदार शुरुआत करने वाले श्रेयस अय्यर और दक्षिण अफ्रीका-ए के खिलाफ भारत-ए के लिए अपनी दस्तक देने वाले हनुमा विहारी थोड़ी अच्छी फॉर्म में दिख रहे हैं। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि भारत की प्लेइंग इलेवन में इस मध्यक्रम में कोई बदलाव होता है या नहीं।

भारत के तेज गेंदबाजों का समूह

भारत टेस्ट गेंदबाजों के एक समूह के साथ दक्षिण अफ्रीका को दौरे पर जाएगा, जिन्होंने हाल के दिनों में टीम के लिए कुछ अविश्वसनीय प्रदर्शन किए हैं। जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर और उमेश यादव इस टीम में हैं, जिससे किसी भी टीम के लिए यह एक अच्छा गेंदबाज़ी क्रम है। दक्षिण अफ्रीका की सभी पिच कहीं और की पिच से जल्दी रिस्पांस करती हैं। ऐसे में हम अपने अनुभवी और तेज गेंदबाज़ों से थोड़ी दमदार गेंदबाजी की उम्मीद कर सकते हैं।

प्रोटियाज के पेसर एनरिक नॉर्टजे बाहर

तेज़ गेंदबाज़ी क्रम की अगुवाई करने वाले प्रोटियाज के तेज गेंदबाज एनरिक नॉर्टजे कूल्हे की चोट के कारण बाहर हैं। ऐसे में लुंगी एनगिडी और कागिसो रबाडा को यह जिम्मेदारी दी गई है। इसके अलावा टीम में डुआने ओलिवियर और बेउरन हेंड्रिक्स भी हैं, जो पेस अटैक में अपना योगदान दे सकते हैं।

डीन एल्गर पर होगी जिम्मेदारी

डीन एल्गर दक्षिण अफ्रीका का नेतृत्व करेंगे, और सीरीज के अंत के रूप में उन पर तेज़ शुरुआत करने की जिम्मेदारी होगी। सलामी बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक निश्चित रूप से अपने बच्चे के जन्म की वजह से आखिरी मैच नहीं खेल सकेंगे।

भारत इस टेस्ट सीरीज़ के साथ इतिहास रचने की कोशिश करेगा, और सेंचुरियन में पहला मैच जीतना भारत का प्रथम लक्ष्य होगा।