News

"मैं अपनी पूरी ताकत के साथ खेलता हूं": किरोन पोलार्ड

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ हुए मुकाबले में किरोन पोलार्ड हिरो रहे, उन्होंने 219 रनों का पीछा करते हुए 34 गेंद पर 87 रनों की शानदार पारी खेली और मुकाबले के आखिरी गेंद पर जीत हासिल की। इस तरह चेन्नई के खिलाफ यह मुकाबला बेहद दिलचस्प रहा।

जब किरोन पोलार्ड ने शुरुआत में 12 गेंद खेलते हुए 5 छक्के मारे तो, सभी को इस बात का एहसास किया कि वाकई आईपीएल में कुछ भी हो सकता है। दिल्ली में मौसम की रिपोर्ट पोलार्ड के छक्के थे, जहां उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स के गेंदबाजों की हालत खराब कर दी। इसी के साथ यह खिलाड़ी प्लेअर ऑफ द मैच चुना गया। खेल के बाद उन्होंने मीडिया को संबोधित किया। यहां नीचे बातचीत के कुछ अंश हैं, आप भी पढ़ें-

आईपीएल में यह पारी आपकी सबसे अच्छी पारी की सूची में किस स्थान पर है?

किरोन पोलार्ड ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा, "मैं आप लोगों को इस बारे में इसे लिखने के लिए छोड़ दूंगा। आप सभी आंकड़े जानते हैं, आप लोग सब कुछ जानते हैं, जो हमने इतने सालों से किया है। आप जानते हैं, मेरे लिए यह रेटिंग के बारे में नहीं है, यह टीम के लिए खेलने के बारे में पूरी तरह है। आपको टीम के लिए खेलने की जरूरत है, और यही मैंने किया है।

आप मुंबई इंडियंस के लिए अकेले मैच कैसे जीते? आपके अलावा और कौन ऐसा कर सकता था?

किरोन पोलार्ड: "मैं कहना चाहता हूं कि यहां बहुत प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं, जो ऐसा कर सकते हैं। यहां बहुत सारे ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपनी अंतरराष्ट्रीय टीमों और विभिन्न फ्रेंचाइजी के लिए क्रिकेट के मैच जीते होंगे। इसलिए, मैं किसी का नाम नहीं लेना चाहता, लेकिन बहुत सारे खिलाड़ियों में यह प्रतिभा है। फिर, कुछ ओवरों के लिए बल्लेबाजी करने और टीम के लिए खेल जीतने का अवसर प्राप्त करना बेहतरीन था, लेकिन यह पूरी तरह टीम के सभी खिलाड़ियों का प्रयास था। साथ ही क्रुणाल, जिन्होंने शानदार खेला। यहां तक कि कप्तान और क्विंटन ने भी हमें बेहतरीन शुरुआत दी, आप जानते हैं और इसके बाद हार्दिक के बल्ले से जो छक्के निकल रहे थे। मुझे लगता है कि यह हमारे लिए शानदार था, बल्लेबाजी के नजरिए से देखें तो यह हमारे लिए पूरी टीम का प्रयास था। हां, हम लोगों ने दो प्वाइंट हासिल किए हैं और आगे बढ़ गए।"

आप इतने समय तक मुंबई इंडियंस के मैचविनर कैसे रहे हैं? आपको क्या लगता है कि CSK के खिलाफ मुकाबले में आप सर्वश्रेष्ठ कैसे हासिल करते हैं?

पोलार्ड: "हां, जब आप किसी फ्रेंचाइज़ी के साथ पूरी तरह सहज होते हैं और वे आप पर विश्वास करते हैं। आप जानते हैं, इतने सालों के बाद भी आप उनके साथ हैं और उनके लिए बेहतरीन प्रदर्शन करते हैं और ऐसा आप आगे भी रखना चाहते हैं, आप गर्व के साथ पूरी तरह प्रदर्शन करते हैं। आप जानते हैं, मेरे लिए यह दिन बहुत खास है, मैं हमेशा अपने आप को विकसित करने और अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करता हूं।"

"चेन्नई सुपर किंग्स टीम में विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं। जब आप इसे देखते हैं, तो लोग इस मैच को आईपीएल का एल क्लासिको कहते हैं। आप जानते हैं, जब आपके पास इतने अनुभव वाले अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हैं, तो आप जानते हैं एमएस धोनी, ड्वेन ब्रावो, फाफ डु प्लेसिस, सुरेश रैना, जहां इन खिलाड़ियों ने ऐसा कई बार कर चुके हैं। आप इस तरह के मुकाबले के लिए मैदान पर आकर प्रदर्शन करना चाहते हैं। जब लोग वीडियो में आपके बारे में बोलते हैं तो इस तरह की बातें सामने आती हैं। इसलिए मेरे लिए, यह ऐसा करने की बात है कि मैं क्या कर सकता हूं, अपनी ताकत के साथ खेल रहा हूं, और साथ ही टीम को कुछ भी जरूरत होती है तो मैं ऐसा कर रहा हूं।"

इस तरह के स्कोर को डिफेंड करते हुए क्या आपके दिमाग में कोई समीकरण चल रहा था?

पोलार्ड: “बिल्कुल, बोर्ड पर दिया गया लक्ष्य खुद में ही समीकरण है। आपको एक अच्छे रन-रेट की जरूरत थी। अब यह आपको चुनना है कि आप किस गेंदबाज़ की गेंदों को हिट करने में अधिक सहज होंगे, उस दिन के लिए सबसे अच्छा गेंदबाज होगा, और फिर उस पर रन बनाने का प्रयास करें। इसलिए, बहुत सी अलग-अलग चीजें हैं जो आपके दिमाग से होकर गुजरती हैं, लेकिन ऐसी परिस्थितियों में जितना संभव हो सके, उतना खुद को शांत रखने की कोशिश करनी चाहिए और हर महत्वपूर्ण गेंद पर बल्ले से सही संपर्क बनाने की कोशिश करें। अधिकतर हम अभ्यास सत्रों के दौरान इस तरह की स्थितियों और परिदृश्यों पर अभ्यास करते हैं। यह केवल किसी मैच में मौका मिलने पर खुद के खेल को दिखाने और चीज़ों को सही तरीके से अंजाम देने की कोशिश करने के बारे में है।”

आपने पूरे लक्ष्य का पीछा करने की कैसे योजना बनाई?

पोलार्ड: “हमने पारी के बीच मिले ब्रेक के दौरान ड्रेसिंग रूम में एक छोटी सी बातचीत के दौरान इस पिच के अच्छे होने के बारे में बात की। और हम जानते थे कि अगर हम टिके रहे, तो हम शुरुआत के छह ओवरों में जीत हासिल नहीं कर सकते। लेकिन, अगर हमनें सही शुरुआत हासिल कर ली तो हमारे पास आगे यह लक्ष्य डिफेंड करने के लिए अच्छे खिलाड़ी हैं। जिस तरह से रोहित और क्विंटन ने अच्छा खेला और हमें पावरप्ले में अच्छी शुरुआत दी, उससे मैं पूरी तरह तैयार था।”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि हमने कुछ विकेट बहुत जल्दी-जल्दी गंवा दिए लेकिन उसके बाद, यह सही गेंदबाज को चुनने के बारे में था और अपना हर संभव प्रयास करते हुए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करने के बारे में था। ऐसे में छोटी चीजें भी बहुत मायने रखती हैं, आप जिस छोटे से अंतर के साथ एक टीम के रूप में और एक व्यक्ति के रूप में जीत हासिल करना चाहते हैं, उसे ध्यान में रखते हुए ही आप इतने बड़े लक्ष्य का पीछा करते हैं। इसलिए, मुझे लगता है कि यह बल्लेबाजी के नजरिए से एक टीम का प्रयास था। जैसा कि मैंने पहले कहा, गेंदबाजों के लिए सब दिन अच्छे नहीं होते, लेकिन मुकाबले में ये सभी चीज़ें अपेक्षित होती हैं।”

हमने चेन्नई में अच्छी गेंदबाज़ी के साथ पांच शानदार मैच खेले हैं। हमें उसकी तारीफ करनी चाहिए, और ऐसे में बल्लेबाजों को अपना बेहतर देने का समय था। ये कुछ चर्चा थीं, जो हमारे बीच हुईं। चेन्नई में हमें काफी मुश्किल हुई और यह हम जानते हैं। हमने अच्छी बल्लेबाजी की और अब जब भी हमें अच्छे विकेट पर मौका मिले तो हम सभी को बल्ले के साथ-साथ अपने खेल कौशल को सही तरीके से निभाने की कोशिश करनी होती है। इसलिए, यह एक टीम का खेल है, और इसीलिए खेल के तीन हिस्से हैं - बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग।”

पलटन, अगर आपने आज का मुकाबला देखा तो ये बात जान लीजिए कि आपने एक यादगार जीत को देखा है। अगर आपने मैच देखा है या नहीं देखा है तो आप इसे दोबारा देख सकते हैं और हाईलाइट्स के ज़रिए इस यादगार मुकाबले का फिर से आनन्द ले सकते हैं। हमारे खाते में दो और अंक जुड़ गए हैं, और अब यहां से हम सिर्फ ऊपर चढ़ने के इरादे से मैदान में उतरेंगे।