News

रणजी ट्रॉफी 2022 फाइनल: अपने 42वें खिताब पर होंगी मुंबई की नजरें, बेंगलुरू में मध्य प्रदेश से होगा मुकाबला

भारतीय घेरलू क्रिकेट की सबसे सफल टीम मुंबई, 22 जून बुधवार को बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में रणजी ट्रॉफी 2022 के फाइनल मुकाबले में मध्य प्रदेश से भिड़ेगी।

भारत के पूर्व अंडर -19 विश्व कप विजेता टीम के कप्तान पृथ्वी शॉ के नेतृत्व में, मुंबई ने सेमीफाइनल मैच में पहली पारी की बढ़त के आधार पर उत्तर प्रदेश को पछाड़कर अपने 47वें रणजी ट्रॉफी फाइनल में प्रवेश किया है।

हेड कोच अमोल मजूमदार के नेतृत्व में, मुंबई ने रणजी ट्रॉफी के मौजूदा सीजन में शानदार खेल दिखाते हुए फाइनल तक का सफर तय किया है। इस टीम ने क्वार्टर फाइनल में उत्तराखंड को 725 रनों से हराकर प्रथम श्रेणी क्रिकेट में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी जीत दर्ज करके रिकॉर्ड बुक में अपना नाम दर्ज करवाया। मुंबई की टीम ने साल 1930 में न्यू साउथ वेल्स द्वारा बनाए गए पिछले रिकॉर्ड को तोड़ा। आपको बता दें न्यू साउथ वेल्स की टीम ने क्वींसलैंड पर 685 रनों की बड़ी जीत दर्ज की थी।

इससे पहले, गोवा और ओडिशा को मात देकर व सौराष्ट्र के खिलाफ ड्रॉ मैच खेलकर मुंबई की टीम एलीट डी ग्रुप में टॉप पर रही थी।

दूसरी ओर, मध्य प्रदेश ने सेमीफाइनल मुकाबले में बंगाल को 174 रनों से हराकर 1998-99 सीजन के बाद पहली बार रणजी ट्रॉफी के फाइनल में प्रवेश किया। दिलचस्प बात यह है कि उस समय मध्य प्रदेश के मौजूदा हेड कोच चंद्रकांत पंडित टीम के कप्तान थे।

आदित्य श्रीवास्तव की अगुवाई वाली मध्य प्रदेश की टीम ने इससे पहले क्वार्टर फाइनल मुकाबले में पंजाब को 10 विकेट से शिकस्त दी थी।

ग्रुप स्टेज के दौरान, मध्य प्रदेश ने गुजरात और मेघालय को हराकर व केरल के खिलाफ ड्रॉ खेलकर एलीट ए में शीर्ष स्थान हासिल किया था।

मुंबई रणजी ट्रॉफी के इतिहास की सबसे सफल टीम रही है, जिसने 41 बार खिताब पर अपना कब्जा जमाकर सबसे ज्यादा रणजी ट्रॉफी जीतने का रिकॉर्ड अपने नाम किया है। पूर्व कप्तान आदित्य तारे के नेतृत्व में, मुंबई ने फाइनल में सौराष्ट्र को एक पारी और 21 रन से हराकर, 2015-16 सीजन में आखिरी बार रणजी ट्रॉफी का खिताब जीता था।

भले ही मुंबई की टीम को इस फाइनल मुकाबले के लिए फेवरेट टीम का तमगा हासिल है लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि मध्य प्रदेश की टीम अपना पहला रणजी ट्रॉफी खिताब जीतने के लिए मैदान पर अपनी जी-जान लगा देगी।

रणजी ट्रॉफी 2022 फाइनल से पहले, यहां हम उन खिलाड़ियों की बात कर रहे हैं जिनपर सभी की नजरें होंगी:

कुमार कार्तिकेय

मुंबई इंडियंस के स्पिनर कुमार कार्तिकेय रणजी ट्रॉफी के मौजूदा सीजन में मध्य प्रदेश के लिए अहम खिलाड़ी के तौर पर उभरकर सामने आए हैं। 24 वर्षीय बाएं हाथ के इस स्पिनर ने अबतक 5 मैचों में सिर्फ 1.92 की इकॉनमी से 27 विकेट चटकाए हैं। इस सीजन में सबसे अधिक विकेट लेने के मामले में कार्तिकेय दूसरे नंबर पर काबिज हैं। बंगाल के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में कार्तिकेय ने अपनी टीम की जीत में अहम भूमिका निभाते हुए अव्वल दर्जे का प्रदर्शन किया। उन्होंने पहली पारी में जहां 3 विकेट हासिल किए वहीं दूसरे पारी में बंगाल के 5 बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई।

सरफराज खान

मुंबई के सरफराज खान रणजी ट्रॉफी 2022 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे हैं। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने पांच मैचों में 133.83 की शानदार औसत से 803 रन बनाए हैं। पूर्व अंडर-19 वर्ल्ड कप स्टार ने अबतक रणजी ट्रॉफी के इस सीजन में तीन शतक और दो अर्द्धशतक जड़े हैं। सौराष्ट्र के खिलाफ उन्होंने 275 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी।

शम्स मुलानी

मुंबई के बाएं हाथ के स्पिनर शम्स मुलानी रणजी ट्रॉफी के मौजूदा सीजन में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे हैं। 25 वर्षीय इस स्पिनर ने अबतक खेले 5 मैचों में 14.59 की औसत से 37 विकेट चटकाए हैं। इससे पहले ग्रुप स्टेज में मुलानी ने सौराष्ट्र के खिलाफ शानदार गेंदबाजी का मुजाहिरा करते हुए 167 रन देकर 11 विकेट हासिल किए थे। गेंदबाजी के अलावा 48.66 की औसत के साथ 292 रन बनाकर मुलानी ने मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते हुए टीम के लिए बल्ले से भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।